☰ Main Menu
Join Bangla Bhumi Telegram Channel Join Our Telegram Channel

सर्वरूप भगवान की आरती, Sarvaroop Bhagwan Aarti in Hindi

sarvaroop bhagwan aarti in hindi

सर्वरूप भगवान की आरती

जय जगदीश हरे, प्रभु! जय जगदीश हरे।
मायातीत, महेश्वर
मन-वच-बुद्धि परे॥ टेक।।

आदि, अनादि, अगोचर,
अविचल, अविनाशी।
अतुल, अनन्त, अनामय,
अमित, शक्ति-राशि॥

जय जगदीश हरे ॥

अमल, अकल, अज,
अक्षय, अव्यय, अविकारी।
सत-चित-सुखमय, सुन्दर
शिव सत्ताधारी॥

जय जगदीश हरे ॥

विधि-हरि-शंकर-गणपति-
सूर्य-शक्तिरूपा।
विश्व चराचर तुम ही,
तुम ही जगभूपा॥

जय जगदीश हरे ॥

माता-पिता-पितामह-
स्वामि-सुहृद भर्ता।
विश्वोत्पादक पालक
रक्षक संहर्ता॥

जय जगदीश हरे ॥

साक्षी, शरण, सखा, प्रिय प्
रियतम, पूर्ण प्रभो।
केवल-काल कलानिधि,
कालातीत, विभो॥

जय जगदीश हरे ॥

राम-कृष्ण करुणामय,
प्रेमामृत-सागर।
मन-मोहन मुरलीधर
नित-नव नटनागर॥

जय जगदीश हरे ॥

सब विधि-हीन, मलिन-मति,
हम अति पातकि-जन।
प्रभुपद-विमुख अभागी,
कलि-कलुषित तन मन॥

जय जगदीश हरे ॥

आश्रय-दान दयार्णव!
हम सबको दीजै।
पाप-ताप हर हरि! सब,
निज-जन कर लीजै॥

जय जगदीश हरे ॥
Festivals Date Time
Made with in India.
Thank you for Using Festivals Date Time Website.